परिचय

फख्‍रूद्दीन अली अहमद मेमोरियल कमेटी की योजनाए
  1. उर्दू पाण्डुलिपियों के प्रकाशनार्थ सहायता:-
    यह योजना कमेटी की एक महत्वपूर्ण योजना है। पूरे देश के उर्दू साहित्यकारो, लेखको, विद्वानो, शायरो, शोधकर्ताओ आदि से पाण्डुलिपिया प्रकाशन अनुदान हेतु प्राप्त होती है। एक वित्तीय वर्ष मे इनकी सख्या 100 से 150 तक होती है एक पुस्तक पर औसतन रू0 20.00 हजार की धनराशि दी जाती है।

  2. सेमिनारलेक्चरसमारोह के आयोजनार्थ सहायता:-
    एक अत्यन्त उपयोगी एवं लाभकारी योजना है। महत्वपूर्ण विषयो पर आधारित लेक्चरसेमिनार का आयोजन किया जाता है। अलग-अलग विषयो पर चार दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। पूरे देश से प्रसिद्व विद्वान, प्रोफेसर, विभागाध्यक्ष, समाज सेवियो, इतिहासकारो को वक्ता के रूप मे आमंत्रित किया जाता है। जिनके द्वारा विशेष विषयो पर पूर्ण रूप से प्रकाश डाला जाता है। जिससे उर्दू भाषी जनता, छात्रो, उर्दू प्रेमियो आदि को उस विषय विशेष पर जानकारी प्राप्त हो जाती है। इस हेतु वक्तओ को सम्मान जनक मानदेय, किराया, भोजन की व्यवस्था, परिवहन व्यवस्था, सभागार का किराया, प्रचार प्रसार जलपान आदि की व्यवस्था करार्इ जाती है।

  3. पी0एच0डी0डी0लिट छात्रो को थीसिस हेतु सहायता:-
    यह योजना उन छात्रो के लिए बहुत लाभकारी योजना है, जो उर्दू विषय में पी0 एच0 डी0 या डी0 लिट कर रहे है। इन छात्रो को अपने शोध कार्य की स्वच्छ प्रति तैयार किये जाने हेतु यूनिवर्सिटी के अनुमोदन पर रू0 10.00 हजार प्रति छात्र की दर से यहायता अनुमन्य करार्इ जाती है। इस हेतु देश के समस्त विश्वविधालयो से पत्र व्यवहार किया जाता है तथा प्रचार प्रसार किया जाता है ।

  4. गोल्ड मेडल योजना पर व्यय :-
    उक्त योजना भी उच्च शिक्षा में उर्दू विषय के छात्रो को प्रोत्साहन दिये जाने हेतु अत्याधिक उपयोगी एवं महत्वपूर्ण है। इस योजना में विश्वविधालय की सस्तुति पर उर्दू विषय में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले छात्रो को प्रति छात्र रू0 10.00 हजार की धनराशि दी जाती

  5. लेक्चरसेमिनार एवं खबरनामें का प्रकाशन :-
    कमेटी द्वारा विषय विशेष पर आयोजित लेक्चरसेमिनारो के दौरान विद्वानो साहित्यकारो आदि के द्वारा रखे गये विचारो को प्रकाशित कराया जाता है। इसके अतिरिक्त कमेटी की ओर से एक त्रैमासिक पत्रिका खबरनामा का प्रकाशन भी कराया जाता है। यह कार्य किसी अनुभवी व्यकित से कराया जाता है।

  6. देश की धरोहरमहत्वपूर्णउपयोगी एवं लोकप्रिय उर्दू पुस्तको का प्रकाशन:-
    उर्दू की बहुत सी ऐसी नायाब व नादिर किताबे है जिनकी अहमियत व अफादियत आज भी है लेकिन उनकी प्रतिया अब खत्म हो चुकी है ऐसी किताबो के प्रकाशन हेतु कमेटी ने एक नयी योजना के चालाये जाने का विचारनिर्णय किया है

  7. अभाव ग्रस्त परिसिथतियो में जीवन व्यतीत कर रहे वृद्व उर्दू विद्वानो अथवा विधवाओ को एक मुश्त आर्थिक सहायता प्रदान कराया जाना:-
    देश में कुछ ऐसे उर्दू विद्वान,लेखक,साहित्यकार पत्रकार शायर आदि जिन्होने उर्दू भाषा की सेवा हेतु अपना जीवन समर्पित कर दिया किन्तु वर्तमान में उनकी आर्थिक सिथति इतनी दैयनीय होती है उनके धरो में कर्इ कर्इ दिन खाने को नही होता है अथवा बीमारी दुख के समय इलाज की व्यवस्था नही हो पाती है ऐसे निर्धन परिवारो को यदि 25000ध्त्र रू0 वार्षिक की आर्थिक सहायता स्वीकृत करा दी जाती है तो इन उर्दू प्रेमियो को प्रोत्साहन मिलेगा इनका मनोबल बढेगा और उर्दू भाषी जनता में हमारी सरकार की छवि निखरेगी।

 

Home  |  Committee  |  Activities  |  Financial Support  |  Contact Us  |  Feedback
copyright 2011. Fakhruddin Ali Ahmad Memorial Commitee - all rights reserved.